New Delhi: आरबीआई ने कहा है कि 2,000 रुपये के नोटों का 97.38% पुनर्निर्माण के बाद से बैंकिंग सिस्टम में वापस आ गया है। आरबीआई के एक बयान में कहा गया है कि 19 मई, 2023 को सर्कुलेशन में थे रहने वाले 2,000 रुपये के नोटों का 97.38% बैंकिंग सिस्टम में वापस चला गया है।
इन नोटों की कुल मूल्य मई 19, 2023 को व्यापार के समाप्त होने पर 3.56 लाख करोड़ रुपये से घटकर 29 दिसंबर, 2023 को व्यापार समाप्त होने पर 9,330 करोड़ रुपये तक पहुंचा। आरबीआई ने इस बड़े पैम्बर की घटना को एक बयान में जारी किया।
यह से बैंकिंग सिस्टम में वापसी की प्रक्रिया के तहत 2,000 रुपये के नोटों की वापसी जारी है, जिसका समापन 7 अक्टूबर, 2023 को हुआ था। इसके बाद से, आरबीआई के सभी शाखाओं में 2,000 रुपये के नोटों की जमा और/या विनिमय की सुविधा उपलब्ध थी।
2,000 रुपये के नोटों के विनिमय की सुविधा आरबीआई के 19 सहायक कार्यालयों (आरबीआई इश्यू ऑफिसेज) में 19 मई, 2023 से उपलब्ध है।
इसके बाद, 9 अक्टूबर, 2023 से आरबीआई इश्यू ऑफिसेज से व्यक्तियों/संगठनों को 2,000 रुपये के नोटों का जमा करने की सुविधा है, आरबीआई ने एक बयान में कहा।
और, देश के भीतर से जनता आरबीआई के 19 इश्यू ऑफिसेज के किसी भी पोस्ट ऑफिस से भेज रही है 2,000 रुपये के नोटों को अपने बैंक खातों में जमा करने के लिए।
आरबीआई ने 2016 में सभी 500 और 1,000 रुपये के नोटों के कानूनी Tender स्थिति को वापस लेने के बाद अर्थव्यवस्था की मुद्रा आवश्यकता को त्वरितता से पूरा करने के लिए 2,000 रुपये के नोटों को पेश किया था। 2,000 रुपये के नोटों की मुद्रण को 2018-19 में बंद कर दिया गया था।
आरबीआई ने कहा है कि ये नोटें आगे भी कानूनी Tender के रूप में जारी रहेंगे।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *