पीपीएफ स्कीम

नई दिल्ली: सेविंग और निवेश में रुचि रखने वालों के लिए पीपीएफ स्कीम एक शानदार विकल्प है, जिसमें दी जाने वाली गारंटीयुक्त इनकम आपको समृद्धि और सुरक्षा का अहसास कराती है। यह स्कीम निवेशकों को लंबे समय तक निवेश करने का एक शानदार विकल्प प्रदान करती है, जिससे वे बुनियादी रूप से आच्छी रकम इकट्ठा कर सकते हैं।

सुरक्षित और सुरक्षित निवेश

पीपीएफ स्कीम ने तीन मुख्य लाभ प्रदान करने का वादा किया है। पहला, इसमें निवेशकों को गारंटीत ब्याज की सुरक्षा है, जिसे सरकार नि:शुल्क प्रदान करती है। दूसरा, इसमें निवेशकों को सुरक्षित और स्थिर निवेश का सुअवसर होता है, क्योंकि इसका प्रभाव बाजार की उतार-चढ़ावों पर नहीं होता है। तीसरा, पीपीएफ स्कीम में निवेश करने के लिए कोई शुल्क नहीं है, जिससे निवेशकों को और भी आत्मनिर्भरता मिलती है।

खाता खोलने का आसान तरीका

पीपीएफ स्कीम में खाता खोलना बहुत आसान है। आप इसे न्यूनतम 500 रुपये से शुरू कर सकते हैं, जिसके लिए आपको किसी भी पोस्ट ऑफिस या बैंक में जाने की आवश्यकता है। आप इस खाते में वित्त वर्ष में 500 रुपये से लेकर अधिकतम 1.5 लाख रुपये तक का निवेश कर सकते हैं।

यह भी पढ़े- मल्टी-कैप बनाम फ्लेक्सी-कैप फंड: समझें निवेश का सही रास्ता

यह भी पढ़े- Sukanya Samriddhi Yojana! 0.2% की वृद्धि के साथ हुई 8.2% तक बड़ी आयी खुशखबरी

ब्याज और संरचित निवेश से होती है आमदनी

पीपीएफ स्कीम में 1 जनवरी 2023 से सालाना 7.1 फीसदी का ब्याज प्रदान किया जा रहा है, जो कंपाउंडिंग आधार पर होता है। यह निवेशकों को सुधारित ब्याज और अच्छे लाभ की गारंटी प्रदान करता है। निवेशकों को पूरे 15 साल बाद मैच्योरिटी मिलती है, लेकिन वे अपने खाते को 5-5 साल के ब्लॉकों में बढ़ा सकते हैं, जिससे उन्हें अधिक लाभ होता है। इससे उन्हें कंपाउंडिंग इंटरेस्ट का भी अधिक मिलता है।

निवेश से हो सकती है मिली आय

पीपीएफ स्कीम में निवेश करने से निवेशकों को टैक्स का भी बचत हो सकता है। इसमें निवेशकों को निवेश करने पर 80 सी के तहत छूट मिलती है, जिससे उन्हें अधिक राशि मिलती है और उनकी आय टैक्स से मुक्त होती है। इसके बारे में अधिक जानकारी के लिए, निवेशकों को आधिकारिक वेबसाइट पर जांच करना चाहिए।

लाभ विवरण एक तालिका में

निवेश राशि निवेश की अवधि प्रारंभिक राशि सालाना ब्याज दर अंतिम राशि
500 रुपये 15 साल 7.1% 42 लाख 15 लाख 12,500 रुपये

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *