LIC ने आजादी के 100वें साल तक सभी नागरिकों को बीमा करने की खास योजना शुरू की है, और इसमें गांवों को ध्यान में रखते हुए विशेष प्रोडक्ट प्रस्तुत किए जाएंगे।

LIC योजना 2047 के लिए: एलआईसी ने आगे बढ़कर 2047 तक सभी को बीमा करने के लिए एक विशेष योजना बनाई है। इसमें भारतीय बीमा निगम की बीमा विस्तार योजना भी शामिल है, जो इस क्षेत्र में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगी।

एलआईसी का कहना है: एलआईसी के चेयरमैन, सिद्धार्थ मोहंती ने बताया है कि हम आजादी के 100 साल पूरे होने पर सभी को बीमा के दायरे में लाने का मकसद रखते हैं। इसके साथ ही, ग्रामीण क्षेत्रों में बीमा योजनाएं पहुंचाने के लिए विशेष उपाय किए जाएंगे। यहां बीमा एक महत्वपूर्ण आर्थिक सुरक्षा है, और ग्रामीण क्षेत्रों में इसे प्रोत्साहित करना जरूरी है।

ग्रामीण इलाकों में जोरदार पहुंच: मोहंती ने यह भी बताया कि उनका मुख्य ध्यान है ग्रामीण क्षेत्रों पर, जहां सभी को बीमा होना चाहिए, और उन्होंने विशेष प्रोडक्ट्स उतारने का भी दृढ निर्णय लिया है। उनका कहना है कि ग्रामीण इलाकों की आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए उन्होंने विशेष प्रोडक्ट्स विकसित किए जाएंगे।

बीमा विस्तार प्रोडक्ट से होगा फायदा: मोहंती ने बताया कि इरडा के निर्देशन में ‘बीमा विस्तार’ प्रोडक्ट का प्रस्ताव किया गया है, जिसमें जीवन, स्वास्थ्य, और संपत्ति बीमा शामिल होगा। इस प्रोडक्ट की बेचाई के लिए ‘बीमा वाहक’ को जोरदार प्रोत्साहन दिया जाएगा, जिससे महिलाओं को भी रोजगार का अवसर मिलेगा।

2047 तक भारत का विकास: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल ही में भारत को 2047 तक एक विकसित राष्ट्र बनाने की योजना की है, और LIC इस लक्ष्य को हासिल करने में अहम भूमिका निभा रहा है। उनका कहना है कि हमारा पूरा ध्यान ग्रामीण क्षेत्रों पर है और उनकी आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए प्रोडक्ट्स लाए जाएंगे। वह उम्मीद करते हैं कि आने वाले दिनों में ग्रामीण हिस्सेदारी में वृद्धि होगी।

फिनटेक का असर: मोहंती ने बताया कि इस योजना के अंतर्गत दावा निपटान, ऋण, और अन्य सेवाएं एक क्लिक पर उपलब्ध होंगी और ग्राहकों को कार्यालय जाने की आवश्यकता नहीं होगी। इससे वे घर बैठे ही मोबाइल पर जरूरी सेवाओं का उपयोग कर सकते हैं। वह फिनटेक पर भी ध्यान केंद्रित कर रहे हैं और व्यापार के विस्तार में इसकी क्षमता का उपयोग करेंगे। LIC अपनी खुद की फिनटेक शाखा के विकल्पों की भी खोज कर रहा है जिसे एक कारोबारी मॉडल के रूप में विकसित किया जा सकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *