New Delhi: लंबे समय के लिए निवेश करना हमेशा फायदेमंद होता है। यह आपको अपने लक्ष्यों को प्राप्त करने में मदद कर सकता है, जैसे कि घर खरीदना, कार खरीदना या रिटायरमेंट के लिए पैसा बचाना।

यदि आप 15 सालों के लिए निवेश करने की योजना बना रहे हैं, तो आपके पास दो लोकप्रिय विकल्प हैं: पीपीएफ (पब्लिक प्रोविडेंट फंड) और एसआईपी (सिस्टेमैटिक इन्वेस्टमेंट प्लान)।

पीपीएफ क्या है?

पीपीएफ एक सरकारी बचत योजना है जो आपको गारंटीड रिटर्न देती है। पीपीएफ खाता 15 सालों में मैच्योर होता है और इस समय पीपीएफ पर सालाना 7.1% की दर से ब्याज मिल रहा है।

एसआईपी क्या है?

एसआईपी एक प्रकार का म्यूचुअल फंड निवेश है जिसमें आप हर महीने एक निश्चित राशि निवेश करते हैं। एसआईपी में निवेश पर रिटर्न बाजार की स्थिति पर निर्भर करता है।

यह भी पढ़े-अमीर बनने का आसान तरीका, बस अपनाएं ये 5 टिप्स

यह भी पढ़े- 20 रूपये के इस गुलाबी नोट से कमाए 4 लाख रूपये, जाने इसकी खासियत

यह भी पढ़े- केंद्रीय कर्मचारियों के लिए बड़ी खुशखबरी, जल्द मिलेंगे 2 लाख 18 हजार रुपये

यह भी पढ़े- LIC आधार शिला योजना: महिलाओं के लिए 87 रुपये की रोजाना बचत से 11 लाख रुपये का फायदा

5000 रुपये के निवेश पर कितना मिलेगा रिटर्न?

चलिए देखते हैं कि 15 सालों तक हर महीने 5000 रुपये का निवेश करने पर आपको पीपीएफ और एसआईपी में कितना रिटर्न मिलेगा।

पीपीएफ में

  • हर महीने का निवेश: 5000 रुपये
  • सालाना निवेश: 60,000 रुपये
  • कुल निवेश (15 सालों में): 9,00,000 रुपये
  • ब्याज (7.1% प्रति वर्ष): 7,27,284 रुपये
  • मैच्योरिटी पर कुल राशि: 16,27,284 रुपये

एसआईपी में

  • हर महीने का निवेश: 5000 रुपये
  • सालाना निवेश: 60,000 रुपये
  • कुल निवेश (15 सालों में): 9,00,000 रुपये
  • रिटर्न (12% प्रति वर्ष): 16,22,880 रुपये
  • मैच्योरिटी पर कुल राशि: 25,22,880 रुपये

निष्कर्ष

जैसा कि आप देख सकते हैं, 15 सालों तक हर महीने 5000 रुपये का निवेश करने पर एसआईपी में आपको पीपीएफ से अधिक रिटर्न मिलेगा। हालांकि, यह ध्यान रखना महत्वपूर्ण है कि एसआईपी में रिटर्न बाजार की स्थिति पर निर्भर करता है। यदि बाजार में गिरावट आती है, तो आपको कम रिटर्न मिल सकता है।

अंततः, कौन सी योजना आपके लिए बेहतर है, यह आपकी व्यक्तिगत वित्तीय स्थिति और लक्ष्यों पर निर्भर करता है। यदि आप गारंटीड रिटर्न चाहते हैं, तो पीपीएफ एक अच्छा विकल्प है। यदि आप अधिक रिटर्न की उम्मीद करते हैं, तो एसआईपी एक बेहतर विकल्प हो सकता है।

निवेश करने से पहले किसी वित्तीय सलाहकार से सलाह लेना हमेशा बेहतर होता है।

सारांश:

  • पीपीएफ में गारंटीड रिटर्न मिलता है, जबकि एसआईपी में रिटर्न बाजार की स्थिति पर निर्भर करता है।
  • 15 सालों तक हर महीने 5000 रुपये का निवेश करने पर एसआईपी में आपको पीपीएफ से अधिक रिटर्न मिलेगा।
  • अंततः, कौन सी योजना आपके लिए बेहतर है, यह आपकी व्यक्तिगत वित्तीय स्थिति और लक्ष्यों पर निर्भर करता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *