IND vs SA क्रिकेट टेस्ट सीरीज़ ने दर्शकों को एक रोमांचक मैच के साथ छोड़ा, और सीरीज़ 1-1 से बराबरी का मैच खेला गया।
New Delhi: भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच हुई टेस्ट सीरीज़ का समापन हुआ, जिसमें 1-1 का बराबरी का परिणाम निकला, जिसे दर्शकों ने उत्सुकता से देखा। चलिए, इस सीरीज़ के विवरण में देखते हैं, मैन ऑफ द मैच की पहचान करते हैं और दो खिलाड़ियों को पहले आने वाले प्लेयर ऑफ द सीरीज़ अवॉर्ड से नवाजा गया।

टेस्ट सीरीज़

इंडिया ने केपटाउन टेस्ट में साउथ अफ्रीका को सात विकेट से हराकर सीरीज़ को 1-1 से ड्रॉ कर दिया। सेंचुरियन टेस्ट में भारत को एक पारी और 32 रनों से हार का सामना करना पड़ा, लेकिन केपटाउन टेस्ट में जीत कर भारत ने सीरीज़ की बराबरी कर ली। इस जीत के बाद, टीम इंडिया ने ICC वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप 2023-25 के पॉइंट्स टेबल में शीर्ष स्थान पर पहुंच लिया। केपटाउन टेस्ट में मोहम्मद सिराज ने अद्वितीय गेंदबाजी के लिए मैन ऑफ द मैच अवॉर्ड से नवाजा गया, जबकि प्लेयर ऑफ द सीरीज़ अवॉर्ड ने एक नहीं, बल्कि दो खिलाड़ियों को सम्मानित किया। साउथ अफ्रीका के अनुभवी बैट्समैन डीन एल्गर और भारत के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह को संयुक्त रूप से प्लेयर ऑफ द सीरीज़ चुना गया।
केपटाउन में लहरा तिरंगा, साउथ अफ्रीका के ‘किले’ को किया ध्वस्त:
डीन एल्गर ने इस सीरीज़ से पहले ही घोषणा की थी कि यह उनके करियर की आखिरी टेस्ट सीरीज़ होगी। केपटाउन टेस्ट की दूसरी पारी में उनका विकेट मुकेश कुमार ने लिया था, जिसके बाद विराट कोहली ने सबको सेलिब्रेट करने से मना किया और एल्गर को जाकर उनके शानदार टेस्ट करियर के लिए सभी भारतीय खिलाड़ियों ने बधाई दी। मोहम्मद सिराज ने पहली पारी में छह विकेट लिए, जबकि दूसरी पारी में एक विकेट निकाला। जसप्रीत बुमराह ने पहली पारी में दो और दूसरी पारी में छह विकेट लिए।
टेस्ट के इतिहास का सबसे छोटा मैच, जिसमें भारत को मिली ऐतिहासिक जीत:
मोहम्मद सिराज ने पहले स्पेल में इतना दमदार गेंदबाजी की, जिसके बाद साउथ अफ्रीका ने इस टेस्ट मैच में कभी उबर ही नहीं पाया। साउथ अफ्रीका पहली पारी में सिर्फ 55 रनों पर ही ऑलआउट हो गया था। जसप्रीत बुमराह ने सीरीज़ में सबसे ज्यादा विकेट लिए, कुल में 12 विकेट लिए। डीन एल्गर के बैट से सबसे ज्यादा रन बने, जोने कुल 201 रन बनाए। जसप्रीत बुमराह ने प्लेयर ऑफ द सीरीज़ अवॉर्ड जीतने के बाद कहा कि यह मैदान उनके लिए हमेशा खास रहेगा, क्योंकि टेस्ट क्रिकेट खेलना उनका सपना था और उनका टेस्ट क्रिकेट का सफर इसी मैदान से शुरू हुआ था।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *