New Delhi: प्राइवेट सेक्टर के यस बैंक ने वित्त वर्ष 2024 की दिसंबर तिमाही के नतीजे जारी किए हैं। बैंक ने बताया कि इस बार उसे नेट प्रॉफिट में 349.7% की उछाल आई है। वहीं नेट इंटरेस्ट रेट इनकम सालाना आधार पर 2.4% बढ़कर 2,017 करोड़ रुपये हो गई।

यस बैंक को दिसंबर तिमाही के दौरान नेट प्रॉफिट 231.6 करोड़ रुपये रहा है, जबकि एक साल पहले इसी तिमाही में मुनाफा 51.5 करोड़ रुपये रही थी। वहीं बैंक के नॉन प्रॉफिटेबल असेट (NPA) या खराब कर्ज 2 फीसदी रही, जो पिछले साल के समान है। दूसरी ओर तिमाही आधार पर पिछले साल की इस तिमाही की तुलना में नेट एनपीए 1 फीसदी की जगह थोड़ा कम होकर 0.9 फीसदी हो गया है।

Highlights

  • यस बैंक का दिसंबर तिमाही में नेट प्रॉफिट 349.7% बढ़कर 231.6 करोड़ रुपये रहा।
  • तिमाही आधार पर नेट एनपीए 1% से घटकर 0.9% हो गया।
  • यस बैंक का सकल एनपीए सितंबर तिमाही में 4,319 करोड़ रुपये से बढ़कर 4,457 करोड़ रुपये हो गया।
  • बेसल III मानदंडों के तहत यस बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात दिसंबर के अंत तक 16% था।
  • तिमाही के लिए नेट टैक्स खर्च 78 करोड़ रुपये था।
  • यस बैंक एसएमई को बढ़ावा देने के लिए नए-नए तरीके अपना रहा है।

यस बैंक का सकल NPA सितंबर तिमाही में 4,319 करोड़ रुपये से बढ़कर 4,457 करोड़ रुपये हो गया, जबकि नेट एनपीए क्रमिक तौर पर 1,885 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,934 करोड़ रुपये हो गया। बेसल III मानदंडों के तहत यस बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात दिसंबर के अंत तक 16% था, जबकि वित्त वर्ष 2023 की तीसरी तिमाही में यह 18 फीसदी और मौजूदा वित्त वर्ष जुलाई-सितंबर तिमाही में 17.1 प्रतिशत था।

वहीं तिमाही के लिए नेट टैक्स खर्च 78 करोड़ रुपये था, जो एक साल पहले की तीन गुना से ज्‍यादा है। वित्त वर्ष 2023 में यह खर्च 17 करोड़ रुपये था। बैंक ने वित्त वर्ष 2024 की तीसरी तिमाही के लिए 554.7 करोड़ रुपये दिए, जबकि वित्त वर्ष 2023 की दिसंबर तिमाही में इसने 844.7 करोड़ रुपये दिए थे।

यह भी पढ़े- जीरो बैलेंस पर 10,000 रुपये तक का ओवरड्राफ्ट: प्रधानमंत्री जन धन योजना के तहत बैंक खाते के लाभ

यह भी पढ़े- आधार कार्ड को ईमेल आईडी से लिंक करना क्यों जरूरी है? जानिए पूरी जानकारी

यह भी पढ़े- 5 से 10 लाख रुपये तक के इलाज का कवर, आयुष्मान कार्ड के लिए पात्रता व आवेदन प्रक्रिया जानें

यस बैंक एसएमई को बढ़ावा देने के लिए नए-नए तरीके अपना रहा है। कंपनी के के कंट्री हेड-गवर्नमेंट अजय राजन ने कहा कि यस बैंक में कार्यशील पूंजी दक्षता को बढ़ाने के लिए एक मॉडल पर काम किया जा रहा है।

विश्लेषण:

यस बैंक का दिसंबर तिमाही का प्रदर्शन काफी अच्छा रहा है। बैंक का मुनाफा 349.7% बढ़कर 231.6 करोड़ रुपये हो गया है। यह लगातार दूसरी तिमाही में बैंक का मुनाफा बढ़ रहा है। बैंक का नेट एनपीए भी घटकर 0.9% हो गया है। यह भी एक अच्छी खबर है।

हालांकि, बैंक का सकल एनपीए सितंबर तिमाही में 4,319 करोड़ रुपये से बढ़कर 4,457 करोड़ रुपये हो गया है। यह चिंता का विषय है। बैंक को इस पर ध्यान देने की जरूरत है।

कुल मिलाकर, यस बैंक का दिसंबर तिमाही का प्रदर्शन अच्छा रहा है। यह बैंक के लिए एक सकारात्मक संकेत है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *