सीसीपीए ने अमेज़ॉन को नोटिस जारी किया, व्यापारियों को भी किया जाएगा दोषी

अमेज़ॉन पर श्री राम मंदिर अयोध्या प्रसाद के नाम पर नकली मिठाइयां बेची जा रही थीं। इस मामले में केंद्रीय उपभोक्ता संरक्षण प्राधिकरण (सीसीपीए) ने अमेज़ॉन को नोटिस जारी किया है। सीसीपीए ने अमेज़ॉन से इस मामले में स्पष्टीकरण मांगा है।

नकली प्रसाद बेचने का आरोप

सीसीपीए ने आरोप लगाया है कि अमेज़ॉन पर राम मंदिर प्रसाद के नाम पर कई तरह की मिठाइयां बेची जा रही थीं। इन मिठाइयों के साथ यह दावा किया जा रहा था कि ये प्रसाद अयोध्या में बनी हैं। हालांकि, सीसीपीए ने जांच में पाया कि ये सभी मिठाइयां नकली थीं।

व्यापारियों पर भी होगी कार्रवाई

सीसीपीए ने अमेज़ॉन के साथ ही इन मिठाइयों को बेचने वाले व्यापारियों पर भी कार्रवाई की चेतावनी दी है। सीसीपीए ने कहा है कि इस तरह से गलत और भ्रामक प्रचार करने वालों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Consumer Protection Act 2020 के तहत कार्रवाई

सीसीपीए ने अमेज़ॉन और व्यापारियों पर Consumer Protection Act 2020 के तहत कार्रवाई करने की बात कही है। इस कानून के अनुसार, कोई भी e-commerce प्लेटफॉर्म गलत और अफवाह जनक प्रचार नहीं कर सकता है। ऐसा करने पर उन पर जुर्माना और जेल की सजा भी हो सकती है।

निष्कर्ष

अमेज़ॉन और व्यापारियों पर की जाने वाली कार्रवाई से यह स्पष्ट हो जाएगा कि भारत में कानून का पालन करना कितना जरूरी है। साथ ही, यह भी संदेश जाएगा कि कोई भी किसी भी धर्म के लोगों की भावनाओं का मजाक नहीं बना सकता है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *