ED-IT Raid in Rajasthan: राजस्थान में आयकर और ईडी विभाग ने 3 जनवरी को सुबह तेजी से कार्रवाई की, जिसमें पूर्व मुख्यमंत्री, आईएएस अधिकारियों, और होटल कारोबारियों के ठिकानों पर छापे मारे गए हैं। इस कार्रवाई के माध्यम से ईडी प्रदेश में हुए खनन घोटाले की जांच की जा रही है, और इसमें राजस्थान के साथ-साथ दिल्ली और कई अन्य राज्यों के अधिकारी भी शामिल हैं। आयकर विभाग की टीमें ने उदयपुर से जुड़े कारोबारी समूह के ठिकानों पर भी छापे मारे हैं, जिसमें होटल फतेह और होटल रेडिसन ब्लू शामिल हैं, जो कारोबारियों के द्वारा मुंबई में संचालित किए जा रहे हैं।
इस छापे के अंतर्गत, आयकर इन्वेस्टिगेशन विंग ने राजस्थान और अन्य राज्यों में कुल 31 स्थानों पर समूचे सामरिक कारोबारियों के ठिकानों पर छापा मारा है। इसमें उदयपुर शहर में संबंधित 27 स्थानों की शामिलता है, जहां बड़े पैमाने पर कर चोरी और मनी लॉन्ड्रिंग की जा सकती है। इस संदर्भ में, कुछ दिनों पहले ही राजस्थान के पाली और जोधपुर में भी आयकर विभाग ने छापे मारे थे, जिसमें कालेधन का बड़ा खुलासा हुआ था।
इस कार्रवाई में राजस्थान में सोने का अब तक का सबसे बड़ा खजाना मिला था, जिसमें मारवाड़ के तीन व्यापारिक समूहों के खातों से 52 करोड़ रुपये और 400 करोड़ रुपये के कारोबार के दस्तावेज जब्त किए गए थे। इस कार्रवाई में इतने बड़े मात्रा में सोने के आने पर आयकर विभाग के अधिकारी भी चौंक गए हैं।
इस आयकर छापे के माध्यम से आयी जाने वाली राशियों के बारे में सूचना नहीं मिली है, लेकिन स्रोतों के अनुसार, यह छापा राजस्थान के विभिन्न स्थानों पर सञ्चालित कारोबारी समूहों को बहुत ही गहरे नजरबंद कर सकता है। इसमें करोड़ों रुपये के कारोबार और कर चोरी की बड़ी गुप्तचर भी शामिल हो सकती हैं।
आयकर विभाग की कार्रवाई के अंतर्गत, राजस्थान के गोगड़ ग्रुप से जुड़े डॉइंग और प्रिंटिंग, और प्रांजल फैशन के कारोबार से जुड़े ठिकानों पर भी छापा मारा गया है। गोगड़ ग्रुप के मालिक भरत गोगड़ को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है, जबकि उमा पॉलीमर्स ग्रुप से भी करोड़ों रुपये के कारोबार के दस्तावेज मिले हैं। Uma Polymers Group के संचालक श्रीपाल लोढ़ा से भी पूछताछ की जा रही है।
इस रेड के माध्यम से पंकज शाह, एल्यूमीनियम उत्पाद निर्माण के मालिक, और प्रेम केबल्स समूह के संचालक अभय शाह को भी पूछताछ के लिए बुलाया गया है। इस छापे में 13 लाख रुपये की विदेशी मुद्रा भी जब्त की गई है। इस समूह के खिलाफ और और भी कई आरोप उठ सकते हैं, और इसमें सञ्चालन के विभिन्न पहलुओं की जांच जारी है।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *