एक साल 2024 में, बीएसएनएल (BSNL) एक बड़ा बदलाव लाने जा रहा है, जो देशभर में इंटरनेट सेवा में सुधार करेगा। यहां है पूरी योजना:

कम्युनिकेशन सुविधा से लेकर इंटरनेट तक

New Delhi: BSNL ने 31 मार्च 2024 तक लक्ष्य रखा है कि देशभर में हर घर, सरकारी और गैर-सरकारी दफ्तरों में इंटरनेट कनेक्शन को बदलकर एक नई योजना को प्रारंभ करेगा। इसके अनुसार, मार्च 2024 के बाद लैंडलाइन नंबर्स को भी ब्रॉडबैंड में बदला जाएगा, शहर से गाँव तक। इसके बाद, गाँवों में स्कूल, कॉलेज, अस्पताल, और पंचायत भवनों में 100 से 250 रुपए के मासिक किराये पर इंटरनेट सेवा उपलब्ध होगी, जो साथ ही पुराने नंबर पर कॉलिंग और इंटरनेट की सुविधा भी प्रदान करेगी।

गाँवों में इंटरनेट क्रांति

BSNL गाँवों में फाइबर केबल के माध्यम से ब्रॉडबैंड कनेक्शन के लिए उपभोक्ताओं से 100 से 250 रुपए महीने का शुल्क वसूलेगी, जिसमें इंटरनेट और कॉलिंग सुविधा शामिल है। यह सेवा दिल्ली, मुंबई, लखनऊ, पटना, रायपुर, इंदौर, भोपाल, जयपुर, और चंडीगढ़ जैसे शहरों में भी उपलब्ध होगी। इसके लिए बीएसएनएल महीने के बाद उपभोक्ताओं से 250 से 500 रुपए चार्ज करेगी।

फाइबर कनेक्शन की राह पर

बीएसएनएल की यह योजना सेना के सिग्नल रेजीमेंट के जवानों की सहायता से हो रही है, और इससे ऑनलाइन इलाज और छात्रों की पढ़ाई में भी आसानी होगी। साल 2024 के आखिर तक, गाँव, शहर, सरकारी और गैर-सरकारी कार्यालयों में इंटरनेट का जाल बिछाने की योजना पूरी तैयार है, जिससे उपभोक्ताओं को सुधारित सेवाएं मिलेंगी। इसमें पुराने नंबर बदलने की कोई आवश्यकता नहीं है, सिर्फ माध्यम बदले जा रहे हैं, जो एक नए इंटरनेट युग की शुरुआत करने की तैयारी है।

बीएसएनएल इंटरनेट योजना: सभी को जोड़ने का संकल्प

बीएसएनएल का यह महत्वपूर्ण आदान-प्रदान साल 2024 में देशभर में एक साथ जुड़े हर घर को दिखाता है। इस योजना के अनुसार, गाँवों से शहरों तक, हर कोने में इंटरनेट कनेक्शन की सुविधा होगी। मार्च 2024 के बाद से शहरों से लेकर गाँवों तक ब्रॉडबैंड कनेक्शन का इस्तेमाल शुरू होगा, जिसमें लोग सिर्फ 100 से 250 रुपए महीने के लिए भुगतान करेंगे। इसके बाद, स्कूल, कॉलेज, और अस्पतालों में भी इंटरनेट सेवा शुरू की जाएगी, जिससे ओनलाइन शिक्षा और आरोग्य सेवाएं आसानी से उपलब्ध होंगी।

फ्री कॉलिंग और इंटरनेट आसानी से

गाँवों में फाइबर केबल के माध्यम से ब्रॉडबैंड कनेक्शन का शुल्क लेने के बावजूद, इसमें इंटरनेट और कॉलिंग सुविधा मुफ्त होगी। बीएसएनएल की यह पहल, जो गाँवों में तकनीकी सुविधा पहुंचाएगी, आने वाले दिनों में जीवन को सुविधाजनक बना देगी। महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी के तहत लाए जा रहे इस प्रोजेक्ट से लाखों लोगों को सुविधा होगी, और उन्हें डिजिटल जगत में शामिल होने का अवसर मिलेगा।

इंटरनेट की गति में वृद्धि

बीएसएनएल की इस उपहारीय योजना में लगभग 100 एमबीपीएस की गति होगी, जिससे लोगों को तेजी से इंटरनेट का अनुभव होगा। यह सोच से है कि लोग ऑनलाइन इलाज, विद्या, और अन्य सुविधाओं का उपयोग कर सकें, जिससे उनका जीवन सुरक्षित और सरल हो।

नए भारत की ऊँचाईयों की ओर कदम

साल 2024 के आखिर तक, बीएसएनएल की इंटरनेट योजना ने नए भारत की ऊँचाईयों की ओर कदम बढ़ाने का दृढ संकल्प किया है। इससे गाँवों से लेकर शहरों तक सभी को समृद्धि और सुविधा का हिस्सा बनाने में सहायक होगा, और आगे बढ़ने में साहस मिलेगा।

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *