Aquarius Horoscope 2024: कुंभ राशि वालों के लिए अगला साल रहेगा खास, जानें वार्षिक राशिफल Aquarius Horoscope 2024: नए साल में कुंभ राशि के लिए करियर की दृष्टि से यह वर्ष काफी महत्वपूर्ण रहने वाला है. इस साल उन्हें अच्छा आर्थिक लाभ मिलने की संभावना है. जानते हैं वृषभ वार्षिक राशिफल

कुंभ राशि वाले लोग अपनी जिद के पक्के होते हैं और जिद्दी होते हैं और अपनी बात मनवाकर ही रहते हैं. इनके अंदर बौद्धिक क्षमताएं होती हैं. बाहर से आप कठोर, जिद्दी, हठी, राग, द्वेष और शत्रुता से युक्त प्रतीत हो सकते हैं, लेकिन भीतर से आप उतने ही कोमल हृदय, संवेदनशील, दार्शनिक और कोमल हृदय वाले हैं.

ऐसे लोग अपनी बात न माने जाने पर जल्दी क्रोधित हो जाते हैं. कभी-कभी गुस्से में वे अपना मानसिक संतुलन खो बैठते हैं और चिल्लाने लगते हैं लेकिन गुस्सा जल्दी ही शांत हो जाता है. इस राशि वाले व्यक्ति में सांसारिक और सांसारिक मोह-माया में उलझे रहने के बावजूद भी दार्शनिक विचारों का अद्भुत समावेश देखा जा सकता है.

व्यापार और धन

  • शनि-केतु का षोडशोपचार दोष रहेगा जिसके कारण वर्ष 2024 में आप इस वर्ष व्यवसाय में आने वाले उतार-चढ़ाव से परेशान होकर अपने ज्ञान और पराक्रम के बल पर सकारात्मक परिणाम लाने की पूरी कोशिश करेंगे और व्यस्त रहेंगे. हानि की स्थितियों से निकलकर लाभ की स्थिति तक पहुँचने में. और काफी हद तक आप इसमें सफल भी हो सकेंगे.
  • साल की शुरुआत से 30 अप्रैल तक 2-12 के बीच गुरु-राहु का संबंध रहेगा, जो इस साल की पहली तिमाही में आपको आर्थिक रूप से पीछे धकेल सकता है.14 जून से 29 जून तक बुध का सप्तम भाव से 3-11 संबंध रहेगा, जो दूसरी तिमाही में कुछ अच्छे सौदे और कुछ अच्छे मुनाफ़े देकर आपको फ्रंटफुट पर लाएगा.
  • 19 मई से 12 जून तक शुक्र चतुर्थ भाव में मालव्य योग बनाएगा जिसके कारण फैशन, एनीमेशन, फूड एंड बेवरेजेज, मैन्युफैक्चरिंग, मीडिया, एक्सपोर्ट इंपोर्ट, रियल एस्टेट क्षेत्र वालों का उत्साह उत्तम रहेगा. आपके व्यवसाय की अच्छी प्रतिष्ठा के साथ-साथ आपके अच्छे अनुबंध और संपर्क इस वर्ष आपके लिए प्लस पॉइंट साबित होंगे.
  • 15 नवंबर से शनि मार्गी हो जाएगा, जिसके कारण निवेश में सावधानी और मितव्ययिता आपको अपनी धारा में बहुत आगे ले जा सकती है और आपको समृद्ध और समृद्ध बना सकती है. म्यूचुअल फंड और शेयर बाजार में निवेश से आंशिक लाभ मिलने के संकेत हैं.

नौकरी और पेशा

  • चूंकि वर्ष की शुरुआत से 5 फरवरी तक मंगल की अष्टम दृष्टि छठे भाव पर है, इसलिए वर्ष 2024 आपके लिए काम करने की मशीन बनता नजर आ रहा है. इस नए साल में आपके काम भाग्य से ज्यादा आपके प्रयासों के बल पर पूरे होंगे.
  • 14 मार्च से 13 अप्रैल तक सूर्य छठे भाव और दशम भाव से नवम-पंचम राजयोग में रहेगा, जिसके कारण उद्यमी, फ्री लांसर, स्व-रोजगार, नौकरी वर्ग, व्यवसायी व्यक्ति इस वर्ष अपने अनुभव से बड़ी सफलता प्राप्त करने में सक्षम होंगे. और कड़ी मेहनत. हर काम को करने की आपकी दृढ़ इच्छाशक्ति आपके काम में आने वाली परेशानियों से बाहर निकालने में मददगार साबित होगी. आप अपनी तीव्र सोच और नपे-तुले दृष्टिकोण से काम की गुणवत्ता को बेहतर से बेहतर बनाने में व्यस्त और तल्लीन रहेंगे.
  • 16 अगस्त से 16 सितंबर तक सूर्य सप्तम भाव में अपने ही घर में रहेगा और दशम भाव से 4-10 का संबंध बनाएगा जिसके कारण यह कई मायनों में जूनियर और सीनियर के लिए एक मजबूत प्रतियोगी साबित होगा. कार्य धारा, क्षेत्र, क्षेत्र, बाज़ार, कार्यालय. आप लाभ की संभावनाओं का लाभ उठाएंगे.
  • 15 नवंबर को शनि मार्गी हो जाएंगे जिसके कारण इस वर्ष आपके प्रमोशन, वेतन वृद्धि या पदक्रम की बात करें तो आशा है यानी बेहतरीन की आशा से आपको अनुकूल परिणाम मिल सकते हैं.

परिवार, प्यार और रिश्ता

  • 18 जनवरी से 11 फरवरी तक शुक्र सप्तम भाव से नवम-पंचम राजयोग में रहेगा जिसके कारण वर्ष 2024 परिवार, प्रेम और रिश्तों के मामले में आपकी परीक्षा लेने वाला वर्ष साबित हो सकता है. इस साल कई बार आपको ऐसा लग सकता है कि आपको क्या करना चाहिए और क्या नहीं? और जब परिस्थितियां आपके अनुकूल होने लगेंगी तो आपको खुद पर और ईश्वर पर विश्वास भी बढ़ता हुआ नजर आएगा.
  • साल की शुरुआत से 30 अप्रैल तक 2-12 के बीच गुरु-राहु का संबंध रहेगा, जिसके कारण साल के शुरुआती 4 महीनों में आपको पारिवारिक परिस्थितियों में उतार-चढ़ाव भरा समय देखने को मिल सकता है. आपका प्रभाव रहेगा और आप सभी को साथ लेकर चलने में सक्षम रहेंगे, आपसी सामंजस्य और रिश्तों में पारदर्शिता से आप हर नकारात्मक स्थिति को सकारात्मक में बदल सकते हैं.
  • 19 मई से 12 जून तक शुक्र अपने ही घर में चतुर्थ भाव में रहेगा और मालव्य योग बनेगा. आपके जीवन में कोई नया साथी आ सकता है, जो आपके लिए अच्छा साबित होगा.
  • 4. 9 अक्टूबर से साल के अंत तक बृहस्पति वक्री रहेंगे, जिसके कारण साल के आखिरी 3 महीने प्रेम संबंधों के लिए चुनौतीपूर्ण रहेंगे, इसलिए धैर्य रखने की जरूरत होगी.

छात्र और शिक्षार्थी

  • वर्ष की शुरुआत से 30 अप्रैल तक बृहस्पति का पंचम भाव से 3-11 का संबंध रहेगा जिसके कारण नया साल 2024 आपसे खूब मेहनत करवाएगा और आपको अच्छे परिणाम देने में भी अच्छा साबित हो सकता है. जनवरी-फरवरी से आप अपनी पढ़ाई पर पूरा ध्यान दे पाएंगे.
  • 15 मार्च से 23 अप्रैल तक मंगल पंचम भाव से 9वें-5वें राजयोग में रहेगा, जिसके कारण परीक्षा में सफलता मिलने की प्रबल संभावना है, चाहे वह किसी भी स्तर की हो.
  • 1 मई से बृहस्पति चतुर्थ भाव में रहेगा जिसके कारण इस वर्ष आप विषयों को बेहतर ढंग से समझने और ट्यूशन या कोचिंग के बजाय खुद ही अपनी पढ़ाई पूरी करने में विश्वास रखेंगे. खेल जगत से जुड़े लोग अपने करियर को उड़ान देने में सफल रहेंगे.
  • 15 नवंबर से शनि मार्गी हो जाएंगे जिसके कारण इस वर्ष आपकी बुद्धि और रचनात्मकता बहुत अच्छी रहेगी जो आपको सफलता की राह पर आगे बढ़ाएगी.
    कड़ी मेहनत, सकारात्मक समय, भाग्य कारक, सभी प्रकार का संयोजन आपको कर्मवीर के रूप में आगे बढ़ाएगा.

स्वास्थ्य और यात्रा

  • वर्ष की शुरुआत से 30 अप्रैल तक गुरु-शनि का संबंध 3-11 रहेगा, जिसके कारण वर्ष की शुरुआत से ही आप ऐसे किसी भी व्यक्ति की मदद करने के लिए तैयार व तत्पर रहेंगे, जिसे आपकी कोई जरूरत महसूस होगी. चाहे छोटा हो या बड़ा.
  • 1 मई से बृहस्पति अष्टम भाव से 9वें-5वें राजयोग में रहेगा जिसके कारण इस वर्ष आपको अपने माता-पिता से भरपूर प्यार, आशीर्वाद और सहयोग मिलेगा. साल की तीसरी तिमाही में आपके परिवार के सभी सदस्य कहीं बाहर जा सकते हैं जिससे सभी बहुत खुश होंगे.
  • 30 जून से 15 नवंबर तक शनि वक्री रहेगा, जिसके कारण इस वर्ष अचानक तेज गति से गाड़ी चलाने से दुर्घटना के संकेत हैं, इसलिए बहुत सावधानी से गाड़ी चलाएं.
  • बृहस्पति की नौवीं दृष्टि बारहवें घर पर होगी, जिसके कारण इस वर्ष नौकरी वर्ग या व्यवसायी लोगों के लिए विदेश यात्रा की योजना बन सकती है. आपको अपने जीवनसाथी के साथ विदेश यात्रा का भी अवसर मिल सकता है.
  • 9 अक्टूबर से वर्ष के अंत तक बृहस्पति वक्री रहेगा जिसके कारण स्वास्थ्य संबंधी परेशानियां कुछ बाधाएं ला सकती हैं, आपको सतर्क रहना होगा. अचानक पेट संबंधी परेशानियां भी आपको परेशान कर सकती हैं

सावधान रहें – 15 जनवरी से 13 फरवरी तक सूर्य शत्रु राशि मकर में रहेगा और 13 फरवरी से 14 मार्च तक सूर्य शत्रु राशि कुंभ में रहेगा, 30 जून से 15 नवंबर तक शनि वक्री रहेगा . बुध 05 अगस्त से 28 अगस्त तक वक्री रहेगा, बृहस्पति 09 अक्टूबर से वर्ष के अंत तक वक्री रहेगा.

जीवन बदलने वाला क्षण – 31 मार्च से 24 अप्रैल तक शुक्र मीन राशि में उच्च का रहेगा, 1 मई से बृहस्पति वृषभ राशि में रहेगा. इस पूरे वर्ष शनि आपकी राशि में शश योग बनाएंगे और 19 मई से 12 जून तक शुक्र अपने ही घर में चतुर्थ भाव में रहेंगे और मालव्य योग बनाएंगे.

कुम्भ राशि वालों के लिए रत्न, व्रत एवं पूजन
रत्न:- नीलम उपरत्न नीलमणि (न्यूनतम पांच रत्ती)
व्रत:- शनिवार का व्रत करें.
पूजा:- शनि उपासना, दशरथकृत शनि स्तोत्र का पाठ/करवाना, काले तिल, छाता, जूते, लोहे के बर्तन, काले वस्त्र, कम्बल आदि का दान करना लाभकारी रहेगा.
उपाय:- आपको प्रतिष्ठित शनि यंत्र लेना चाहिए और उसे काले कपड़े पर साबुत उड़द या उड़द की दाल से अष्टदल कमल बनाकर स्थापित करना चाहिए. इसके बाद काले या नीले वस्त्र पहनकर काली माला से 69 हजार ओम प्रां प्रीं प्रौं सः शनये नमः मंत्र का जाप करें.

Leave a comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *